HomeUncategorizednashpati ke fayde

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नाशपाती के फायदे (Nashpati ke fayde) बहुत है. नाशपाती के लाभ पढियें - Nashoati ke laabh padhiyen । । । । । । । । । । Share on Whatsapp . नाशपाती का नियमित रूप से सेवन करने से खून की कमी दूर होती हैं. This entry was posted in Health and tagged Shahtut ka juice sevan karne ke fayde, Shahtut ke sharbat ke fayde, Shahtut khane ke fayde, Shahtut khane se laabh on February 6, 2017 by satyenhacks. #6 Answers, Listen to Expert Answers on Vokal - India’s Largest Question & Answers Platform in 11 Indian Languages. Aug 7, 2016 4:53 pm. Dosto aur bhi bahut se fayde hai nashpati ke sevan karne se aiye jante hai. नाशपाती एक लोकिप्रय फल है। नाशपाती दुनिया भर में कई संस्कृतियों का फल के रूप में एक अभिन्न हिस्सा है और यह रसीला फल बहुत अधिक न्यूट्रिशनल और औषधीय लाभ प्रदान करता है। यह फल रोज़ेशी (Rosaceae) परिवार का सदस्य है।, यह फल उत्तरी अफ्रीका, पश्चिमी यूरोप और एशिया में सबसे पहले उगाया गया था। भारत में नाशपाती की खेती उत्तर प्रदेश, पंजाब और कश्मीर में की जाती है। यह हजारों सालों से अंतर्राष्ट्रीय आहार का एक हिस्सा रहा है। इसका पौधा समशीतोष्ण (temperate) जलवायु में अच्छी तरह से बढ़ता है। यह एक मध्यम ऊंचाई वाला पेड़ होता है। इसकी कुछ प्रजातियां झाड़ जैसी होती हैं, जिनकी ऊंचाई अधिक नहीं होती है। नाशपाती की कई किस्मों का उपयोग सजावटी पेड़ों और झाड़ियों के रूप में किया जाता है।, नाशपाती अपनी उपलब्धता और स्वाद के अलावा, हजारों सालों से औषधीय लाभ के लिए भी उपयोग की जाती रही है। नाशपाती में मौजूद खनिज, विटामिन और आर्गेनिक कंपाउंड सामग्री स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी होती है। नाशपाती में कुछ सक्रिय और प्रभावी घटक जैसे पोटेशियम, विटामिन-सी, विटामिन K, फिनालिक कंपाउंड, फोलेट, आहार फाइबर, तांबा, मैंगनीज, मैग्नीशियम के साथ साथ बी-कॉम्प्लेक्स विटामिन भी हैं।, मानव पाचन में जूसी और रेशेदार नाशपाती फल की एक बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। एक सिंगल सर्विंग के साथ नाशपाती से हमें दैनिक आवश्यकता का 18% फाइबर मिलता है। नाशपाती पाचन स्वास्थ्य और पाचन कार्य के लिए एक बहुत मजबूत एजेंट हो सकती है। यह गैस्ट्रिक और पाचन के रस के स्राव को उत्तेजित करती है ताकि खाद्य पदार्थ अधिक चिकना हो और अधिक जल्दी पच जाएँ। यह आँतों के कार्यों को नियंत्रित करती है जिससे कब्ज की संभावना कम हो जाती है। इसमें मौजूद पेक्टिन दस्त और कब्ज को ठीक कर सकता है।, विभिन्न फलों के बारे में कुछ लोगों को कैलोरी सामग्री और उनमें मौजूद प्राकृतिक शर्करा से शिकायत होती है। हालांकि, नाशपाती सबसे कम कैलोरी फलों में से एक हैं। एक औसत नाशपाती में 100 से अधिक कैलोरी हैं, जो एक स्वस्थ आहार की दैनिक कैलोरी का 5% है। हालांकि इसमें मौजूद फाइबर से आपको अपना पेट भरा हुआ महसूस होता है। इसलिए जो लोग अपना वजन कम करने की कोशिश कर रहे हैं उनके लिए नाशपाती बहुत ही अच्छा फल। वजन और मोटापे पर कम प्रभाव के साथ यह एक उच्च-ऊर्जा, उच्च-पोषक आहार है।, (और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट), नाशपाती में एंटी कैसरोजेनिक गुण होते हैं और यह कई विभिन्न प्रकार के कैंसर की रोकथाम से जुडी हुई है जिनमें कोलन, मलाशय, स्तन, प्रोस्टेट और फेफड़े के कैंसर शामिल हैं। नाशपाती में हाइड्रोऑक्सीनॉमिक एसिड होता है जो पेट के कैंसर को रोकने में मदद करता है। इसमें मौजूद फाइबर पेट के कैंसर को बढ़ने से रोकता है। कई अन्य फलों की तुलना में नाशपाती में बहुत अधिक एंटीऑक्सिडेंट पाएं जाते हैं।, नाशपाती धूम्रपान करने वाले लोगों के लिए बहुत मददगार हो सकती हैं। धूम्रपान करने वाले धूम्रपान करने के बाद नियमित रूप से नाशपाती के सेवन से कैंसर से छुटकारा पा सकते हैं। विशेषज्ञों के पैनल के एक शोध के मुताबिक, धूम्रपान मानव शरीर के अंदर कैसिनोजेनिक पदार्थ को बढ़ावा दे सकता है। ये कैंसरजनक पदार्थ शरीर से आसानी से हटाए नहीं जा सकते हैं। हालांकि, अगर धूम्रपान करने वाले लोग धूम्रपान के बाद नाशपाती का सेवन करते हैं तो विषाक्त पदार्थों को तुरंत शरीर से मूत्र के माध्यम से नष्ट कर दिया जा सकता है। नाशपाती के पेड़ के पत्ते चाय के लिए महत्वपूर्ण स्रोत हैं। इसकी चाय के द्वारा मूत्रमार्ग, सिस्टिटिस और यूथथ्रल कैलकुस जैसी बीमारियों से निपटा जा सकता है।, (और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार), इसी तरह इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन-सी की गतिविधियों से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली भी को बढ़ाया जाता है। विटामिन सी लंबे समय से प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए फायदेमंद माना जाता है, क्योंकि यह सफेद रक्त कोशिका उत्पादन और गतिविधि को उत्तेजित करता है। परंपरागत रूप से, नाशपाती जैसे फलों को सामान्य सर्दी, फ्लू या अन्य कई हल्के बीमारियों जैसे सामान्य स्थिति में खाने की सलाह दी जाती है। इससे एक त्वरित प्रतिरक्षा तंत्र को बढ़ावा देने में मदद मिल सकती है।, (और पढ़ें - मसालेदार खाना करे प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत). खाने में मीठा नाशपाती मोटे छिलके वाला होता है. 2:13. MISC USA. चित्र स्रोत – Shutterstock. Dil o dimagh ko farhat deti hai, dimaghi kamzori door karti hai. इस फल को अपने आहार में ज़रूर शामिल कर लें. Nashpati Pears in Hindi, नाशपाती खाने के फायदे और नुकसान, नाशपाती पौष्टिक गुणों से भरपूर एक फल है जो आयुर्वेद में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। जीरे के पानी के फायदे करें पाचन प्रक्रिया को बेहतर - Cumin Water for Digestion in Hindi मखाने के फायदे – Makhane ke fayde in hindi. डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ, नाशपाती के फायदे - Nashpati ke Fayde in Hindi, नाशपाती के फायदे है पाचन में सहायक - Pears Good for Digestion in Hindi, नाशपाती के लाभ वजन कम करने के लिए - Pears Reduce Weight in Hindi, नाशपाती के गुण करें कैंसर की रोकथाम - Pears for Cancer in Hindi, नाशपाती खाने के फायदे बढ़ाएँ प्रतिरक्षा - Nashpati ke Fayde for Immune System in Hindi, नाशपाती का सेवन करे हृदय रोगों को कम - Pears Good for Heart in Hindi, पियर बेनिफिट्स है घाव भरने में लाभकारी - Pears for Wound Healing in Hindi, नाशपाती खाने के लाभ बचाएँ एनीमिया से - Nashpati ke Gun for Anemia in Hindi, नाशपाती फल के फायदे हैं गर्भवती महिलाओं के लिए - Pears Benefits During Pregnancy in Hindi, सूजन को कम करने में सहायक है नाशपाती - Pears Good for Inflammation in Hindi, नाशपाती का उपयोग करें हड्डियों के लिए - Pears Good for Bones in Hindi, नाशपाती के औषधीय गुण रखें त्वचा को जवां - Pears for Skin Health in Hindi, नाशपाती करे घेंघा बीमारी को कम करने में मदद - Nashpati Khane ke Fayde for Goiter in Hindi, नाशपाती का प्रयोग मधुमेह रोगियों के लिए अच्छा - Eating Pears Good for Diabetes in Hindi, नाशपाती बेनिफिट्स करें साँस से जुड़ी समस्या को ठीक - Nashpati ke Labh for Shortness Breath Problem in Hindi, नाशपाती के नुकसान - Nashpati ke Nuksan in Hindi, मसालेदार खाना करे प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत, गोटू कोला है घाव को जल्दी भरने में लाभकारी, आयुर्वेद कहता है नई माताएं इन बातों पर देकर विशेष ध्यान करें अपनी देखभाल, सूर्य के प्रकाश के लाभ रखें हड्डियों को मजबूत, इस चमत्कारी मिश्रण से होंगी आँखों की झुर्रियाँ हमेशा के लिए दूर, च्यवनप्राश खाने के फायदे श्वसन प्रणाली के लिए. मूल स्रोत – 5 reasons why pear or nashpati should be your favourite fruit! नाशपाती एक ऐसा फल है जिससे सभी लोग परिचित तो होते है, लेकिन उन्हें नाशपाती के फायदे पता नहीं होते है इसलिए आज हम आपको इसके उन गुणों के बारे में बताने जा रहे है जिन्हें जानकर आप इसे खाएं बिना नहीं रह पायेंगे। आप भले ही इसे एक साधारण फल के रूप में जानते हों पर इसमें इतने सारे औषधीय गुण होते जो सीधे आपके स्वास्थ्य पर प्रभाव डालते है। अगर आपको यह पता नहीं तो चलिए हम आपको इसके बारे में बताते है आइये जानते है नाशपाती के फायदे और नाशपाती के नुकसान के बारे में।, जैसा की हम जानते गर्मीयों का मौसम आते ही हमें शीतल पेय की जरूरत का अनुभव होने लगता है। नाशपाती हमारे शरीर में पानी की कमी को कम करता है साथ ही साथ इसमें बहुत से औषधीय गुण भी उपलब्‍ध होते है जो हमे शारीरिक और मानसिक रूप से फायदा पहुंचाते है।, 1. नाशपाती खाने के फायदे और नुकसान – Pears (Nashpati) Benefits and Side Effects in Hindi - November 25, 2020; ब्लैक राइस खाने के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान – Black Rice (Forbidden Rice) in Hindi - November 24, 2020 अनेक रोग-विकारों में सहायक नाशपाती सेब से जुड़ा … High blood pressure mein nashpati ka use bara mufeed hai. Bukhar dur kare – Nashpati ke istemal se bukhar me bhi rahat milta hai isliye sabhi ko nashpati ka sevan karna chahiye. (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम), यदि आपकी त्‍वचा तैलीय है और आप इससे छुटकारा चाहते है तो आप नाशपाती का उपयोग कर सकते है। आप एक पका हुए नाशपाती को मसल कर उसमें आधा चम्‍मच शहद और एक बडा चम्‍मच क्रीम का महीन मिश्रण तैयार करके उसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगाकर बीस से पच्‍चीस मिनिट तक रहने दें। ये मिश्रण आपकी की त्‍वचा में उपलब्‍ध तेल को अवशोषित कर बाहर निकालने में आपकी मदद करेगा।, गले में खराश होने की स्थिति में आप नाशपाती का उपयोग कर सकते है क्‍योंकि यह आपके गले की सूजन और उसमें होने वाली जलन को दूर करता है। आप नाशपाती के साथ थोडा शहद का उपयोग कर सकते है। नाशपाती गले से सं‍बंधित रोगो के उपचार के लिए अधिक उपयोगी होता है, ऐसी स्थिति में आप दिन में दो बार नाशपाती के जूस का उपयोग कर सकते है। (और पढ़े – गले की खराश को ठीक करने के घरेलू उपाय), बहुत से लोग पेट की खराबी से परेशान रहते है, साथ ही साथ वे मतली और उल्‍टी से परेशान रहते है। ऐसी स्थिति में नाशपाती का सेवन करने से उन्‍हें इन परेशानियों से निजात मिल सकती है। (और पढ़े – खराब पेट को ठीक करने के घरेलू उपाय), जब भी बालों के पोषण की बात आती है तो नाशपाती को छोड़ा नही जा सकता। नाशपाती स्‍वस्‍थ्‍य और पोषित बालों को बनाने की क्षमता रखता है। क्‍योंकि नाशपाती में ‘शर्बिटोल’ या ‘ग्‍लूसिटोल’ नामक एक प्राकृतिक एलकोहल पाया जाता है जो बालों की जड़ो में जाकर बालों को मजबूत करता है और इन्‍हें स्‍वस्‍थ रखता है। यदि आप के बालों से चमक जा चुकी है तो आप चिंतित ना हो नाशपाती आपके बालों की चमक बापस लाने में आपकी मदद करेगा, आपको सिर्फ एक पका हुआ नाशपाती, सेब का सिरका और दो बडे चम्‍मच पानी को मिलाकर अपने बालों में लगाना है जिससे आपके बालों में नई चमक आजाएगी।, ऊपर आपने जाना की नाशपाती के फायदे गुण लाभ अनेक है फिर भी नाशपाती बेशक हमारे लिए बहुत उपयोगी फल है पर स्वाभाविक है कि इसमें गुण है तो दोष भी होगे, लेकिन आपको बता दे कि अभी तक नाशपाती के सेवन से कोई दुष्‍प्रभाव की जानकारी नहीं मिली है। वैसे तो नाशपाती खाने की कोई उम्र या सीमा नही है मतलब बच्‍चा या बुजुर्ग कोई भी व्‍यकित इसका सेवन कर सकता है। पर फिर भी हमें नाशपाती का सेवन करते समय कुछ सावधानियां रखना जरूरी होता है।, • नाशपाती का सेवन करने से पहले यह देख ले कि नाशपाती सही तरह से पका है या नही। • बाजार से नाशपाती खरीदते समय अच्‍छे से देखकर, छूकर ही लें क्‍योकि वे पकने पर अपना रंग नहीं बदलते। • नाशपाती को ठंडे स्‍थान पर स्‍टोर करना चाहिए। • नाशपाती का सेवन करने से पहले उसे घोकर उपयोग करना चाहिए साथ साथ ही उसके छिल्‍के नहीं उतारना चाहिए क्योंकि इसमें पोषक तत्व अधिक मात्रा उपलब्ध होते है • एक बार नाशपाती को काटने के बाद, ऑक्सीकरण के कारण नाशपाती भूरे रंग में तेजी से बदलने लगता हैं। इसलिए इसका सेवन काटने के बाद तुरंत ही करें। • काटने के बाद ऑक्सीकरण के कारण नाशपाती के भूरे रंग को रोकने के लिए, इसके टुकड़ों में कुछ नींबू का रस लगा सकते है। • अगर आपको नाशपाती के सेवन के बाद पेट में दर्द या सुजन का अनुभव होता है तो इसका उपयोग ना करें।, अस्वीकरण healthunbox.com पर दी हुई संपूर्ण जानकारी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गयी हैं। हमारा आपसे विनम्र निवेदन हैं की किसी भी सलाह / उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करे। इस स्वास्थ्य से सम्बंधित वेबसाइट का उद्देश आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी मुहैया कराना हैं। आपके चिकित्सक को आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानकारी होती हैं और उनकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है. दूध में इलायची डालकर पीने के फायदे जो न केवल पाचन तंत्र मजबूत करे बल्कि एक टॉनिक के रूप में भी काम करता है, benefit of cardamom and milk hindi. नाशपाती के फायदे - Nashpati ke Fayde in Hindi. 0:48. Add Comment. नाशपाती के फायदे (nashpati ke fayde) नाशपाती के फायदे (nashpati ke fayde) बहुत ही बेशकीमती होते हैं. See a certified medical professional for diagnosis. racipies. Our content does not constitute a medical consultation. ... Nashpati Ke Faiday ,Nashpati hamari sehat k leay kis trha faiday deti hai Urdu/ Hindi video. जीरे के पानी के फायदे - Jeere ke Pani ke Fayde in Hindi. नाशपाती को पियर भी कहा जाता है और इसका जैविकिय नाम 'जीनस सेबी' है। यह एक ऐसा फल है जो खाने में सेब के जैसा ही लगता है और आकर में गोल होता है। Nashpati Ke Fayde In Hindi Bataye? नाशपाती के फायदे और उपयोग (Nashpati Khane ke Fayde in Hindi) 1. नाशपाती के फायदे – Nashpati Ke Fayde in hindi, 3. Copyright © 2020 All rights reserved. Sonf Ke Fawaid (Faiday) in Urdu | Urdu Totkay By Zubaida Apa. कमल का बीज या मखाने में 9.7% आसानी से पचनेवाला प्रोटीन, ... मखाने के नुकसान – Makhana ke nuksan in hindi. नाशपाती खाने के फायदे और नुकसान – Pears (Nashpati) Benefits and Side Effects in Hindi - November 25, 2020; ब्लैक राइस खाने के 12 फायदे, उपयोग और नुकसान – Black Rice (Forbidden Rice) in Hindi - November 24, 2020 Badan ko farba karti hai, taza khoon paida karti hai. Qabz tor hai, is ke khane se pakhana ba faraghat aata hai. नाशपाती खाने के फायदे और नुकसान Pears (Nashpati) Benefits and Side-Effects in Hindi नाशपाती खाने के फायदे और स्वास्थ्य लाभ Health Benefits of … Newer Post Older Post Home. नाशपाती में पाये जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Present in pears in hindi, नाशपाती के फायदे – Nashpati Ke Fayde in hindi, नाशपाती के फायदे गर्भावस्था में – Benefits of eating pears during pregnancy in hindi, नाशपाती के गुण कब्ज दूर करने में लाभकारी – Nashpati Ke Fayde for Constipation in hindi, नाशपाती के फायदे वजन कम करने के लिए – Pears benefits weight loss in hindi, नाशपाती के लाभ मुँहासों के लिए – Pears Good For Acne in hindi, नाशपाती के फायदे कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए – Pears Benefits for Lower Cholesterol in hindi, नाशपाती के औषधीय गुण मधुमेह के लिए – Pears Good for Diabetes in hindi, नाशपाती फल के फायदे पथरी को नष्ट करने में – Pears for Kidney Stones in hindi, नाशपाती के फायदे ऑयली स्किन के लिए – Pears Good for Oily Skin in hindi, नाशपाती खाने के फायदे गले की खराश को ठीक करने के लिए – Nashpati for Sore Throat in hindi, नाशपाती के फायदे पेट की खराबी में – Pear fruit benefits for Upset Stomach in hindi, नाशपाती के लाभ बालों के लिये – Pears Good for Hairs in hindi, नाशपाती के नुकसान – Nashpati Ke Nuksan in hindi, मुहांसे दूर करने के लिए चेहरे पर भाप लेने के फायदे, पथरी होना क्या है? नाशपाती क्यों है खास फल, pear ke fayde in hindi ,नाशपाती कितने प्रकार की, इसमें ऐसा क्या है जो किसी फल में नहीं , nashpati ke vitamin poshak tatv hindi me (किडनी स्टोन) पथरी के लक्षण, कारण और रोकथाम. Post navigation ← Jamun Khane Ke Fayde Nashpati Khane Ke Fayde → नाशपाती में पाये जाने वाले पोषक तत्व – Nutrients Present in pears in hindi 2. (और पढ़ें - ज्वार के फायदे हृदय स्वास्थ्य के लिए), विटामिन सी शरीर के विभिन्न अंगों और सेलुलर संरचनाओं में नए ऊतक को संश्लेषित (synthesizing) करने का एक अनिवार्य हिस्सा है। यह शरीर के चयापचय को सुचारू रूप से चलाने और सभी कार्यों को ठीक से संचालित करना सुनिश्चित करता है। इसके अलावा, इसमें मौजूद घाव भरने वाला एसिंर्बिक एसिड चोटों और बीमारियों से होने वाली छोटी चोटें, कट्स और इंजरीज को तेजी से भर सकता है। यह क्षतिग्रस्त रक्त वाहिकाओं की रिपेयर में भी मदद करता है, जिससे हृदय प्रणाली पर तनाव को कम होता है।, (और पढ़ें - गोटू कोला है घाव को जल्दी भरने में लाभकारी), ऐसे रोगियों के लिए जो एनीमिया या अन्य खनिज की कमी से पीड़ित हैं उनके लिए नाशपाती अपनी तांबे और लोहे की सामग्री के कारण बहुत सहायक हो सकती है। कॉपर शरीर में खनिजों की तेजता को बेहतर बनाता है और बढ़ाता है। और लोहे के स्तर में बढ़ोतरी का मतलब है कि शरीर में लाल रक्त कोशिका के संश्लेषण का बढ़ जाना। आप थकान, संज्ञानात्मक खराबी, मांसपेशियों की कमजोरी आदि के लिए इसका सेवन बहुत ही अच्छा होता है।, (और पढ़ें – जीरा वाटर बेनिफिट्स करें एनीमिया का इलाज), फोलेट नाशपाती का अन्य मूल्यवान पोषण घटक हैं। नवजात शिशुओं में न्यूरल ट्यूब दोषों (neural tube defects) में कमी के साथ फोलिक एसिड का सकारात्मक संबंध रहा है, इसलिए नाशपाती जैसे फोलेट-समृद्ध फल खाने से आपके बच्चे के स्वास्थ्य और खुशी की रक्षा हो सकती है, इसलिए गर्भवती महिलाओं को हमेशा अपने फोलिक एसिड स्तर पर निगरानी रखने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।, (और पढ़ें - आयुर्वेद कहता है नई माताएं इन बातों पर देकर विशेष ध्यान करें अपनी देखभाल), नाशपाती की एंटीऑक्सीडेंट और फ्लैवोनॉइड घटक भी शरीर में एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव को प्रेरित करते हैं और सूजन वाले रोगों के साथ जुड़े दर्द को कम कर सकते हैं। इसमें गठिया, रूमेटिक कंडीशन, गाउट और इसी तरह की स्थितियों के लक्षणों में कमी शामिल है।, नाशपाती की उच्च खनिज सामग्री जिसमें मैग्नीशियम, मैंगनीज, फास्फोरस, कैल्शियम और तांबे शामिल हैं। यह सामग्री हड्डियों के खनिज नुकसान और दुर्बल करने वाली कंडीशंस जैसे ऑस्टियोपोरोसिस और शरीर की सामान्य कमजोरी को कम कर सकती है।, (और पढ़ें - सूर्य के प्रकाश के लाभ रखें हड्डियों को मजबूत), मानव शरीर में सबसे बहुमुखी विटामिन में से एक है विटामिन ए। नाशपाती विटामिन ए में उच्च होती है। नाशपाती त्वचा पर उम्र बढ़ने के प्रभाव को कम कर सकती हैं जैसे झुर्रियाँ और उम्र के धब्बे। इस शक्तिशाली फल से बालों के झड़ने, मैकुलर डिजनरेशन (धब्बेदार अध: पतन), मोतियाबिंद और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से जुड़े अन्य कंडीशंस को भी कम किया जा सकता है।, (और पढ़ें - इस चमत्कारी मिश्रण से होंगी आँखों की झुर्रियाँ हमेशा के लिए दूर), नाशपाती में आयोडीन की प्रचुर मात्रा होती है जो मरीजों को घेंघा बीमारी को कम करने में मदद करता है। बूढ़े लोगों को आंतरिक अंगों को फ़िल्टर करने के लिए नियमित रूप से नाशपाती को सेवन को बढ़ावा देना चाहिए। यह कैल्शियम को स्टोर करने और रक्त वाहिकाओं को नरम करने में भी मदद करता है। नाशपाती की उचित खपत से अपच, गाउट, एनीमिया, कब्ज और कुपोषण जैसे विभिन्न रोगों को छुटकारा पाने में प्रभावी ढंग से मदद मिल सकती है।, फाइबर से भरपूर नाशपाती मधुमेह से पीड़ित लोगों के लिए एक बहुत ही अच्छा फल है। इसलिए जिन शुगर पेशेंट को मीठा खाने की इच्छा होती है यह उनके लिए बहुत गुणकारी होता है। इसमें मौजूद नेचुरल शुगर को रक्त धीरे अवशोषित कर लेता है। नाशपाती में लेवल्ज़ (Levulose) होता है जो एक प्राकृतिक शुगर का एक रूप है। इससे आपका रक्त शर्करा का स्तर नहीं बढ़ता है।, कुछ बच्चों को ग्रीष्मकाल में सांस लेने में समस्या होती हैं जिनसे बड़ी समस्याएं हो सकती हैं। नाशपाती का नियमित सेवन करने से इस समय को ठीक करने में मदद मिलती है।, (और पढ़े – च्यवनप्राश खाने के फायदे श्वसन प्रणाली के लिए), नाशपाती को छिलके समेत धो कर अच्छे से चबा कर खाना चाहिए। लेकिन इसके छिलके को जल्दबाजी में बिना चबाये खाने से पाचन तंत्र पर प्रभाव पड़ सकता है जिससे कई बार पेट में दर्द हो जाता है।, नाशपाती को काट कर अधिक देर तक रख कर नहीं खाना चाहिए। क्योंकि हवा के सम्पर्क में आने पर यह भूरे रंग का हो जाता है जो नुकसानदेह हो सकता है।, ठंड में गला बैठने, बुखार, दस्त होने पर रोगी को नाशपाती का सेवन नहीं करना चाहिए। (और पढ़ें – बुखार के घरेलू उपचार), नाशपाती खरीदते समय ध्यान रखना चाहिए कि नाशपाती न अधिक मुलायम हो और न ही अधिक सख्त। नाशपाती से मीठी खुशबू आनी चाहिए। नाशपाती को खरीदने के दो तीन दिन तक खा लेना चाहिए।, अस्वीकरण: इस साइट पर उपलब्ध सभी जानकारी और लेख केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार हेतु बिना विशेषज्ञ की सलाह के नहीं किया जाना चाहिए। चिकित्सा परीक्षण और उपचार के लिए हमेशा एक योग्य चिकित्सक की सलाह लेनी चाहिए।. अनुवादक – Shabnam Khan. नाशपाती के फायदे गर्भावस्था में – Benefits of eating pears during pregnancy in hindi Note - यह लेख नाशपाती के बारे में आपको यह पोस्ट Pear Fruit In Hindi कैसी लगी। नाशपाती के फायदे (Nashpati Ke Fayde) और इसके पेड़ पर आपके विचार क्या है। यह पोस्ट Nashpati … नाशपाती पोटेशियम का एक बहुत ही बढ़िया उदाहरण है, जिसका मतलब है कि नाशपाती का हृदय स्वास्थ्य पर एक महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है, क्योंकि पोटेशियम एक प्रसिद्ध वेदोडिलेटर (छोटी रक्‍तवाहिकाओं को बड़ा करने वाली औषधि) है। इसका मतलब यह है कि यह रक्तचाप को कम करता है, जिससे पूरे कार्डियोवस्कुलर सिस्टम में तनाव कम हो जाता है। इसके अलावा, इससे शरीर के सभी हिस्सों में रक्त का प्रवाह बढ़ता है, जो अंगों को ऑक्सीजन देता है और अपने प्रभावी कार्य को बढ़ावा देता है। रक्तचाप का कम होना अथेरोस्क्लेरोसिस (धमनियाँ सख्त होना), हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी हृदय रोगों की कम संभावना से भी जुड़ा हुआ है। अंत में, पोटेशियम शरीर में एक द्रव नियामक के रूप में काम करता है, जिसका अर्थ है कि यह शरीर के विभिन्न हिस्सों को हाइड्रेटेड रखता है और कोशिकाओं और अंगों में आवश्यक द्रवों के संतुलन को सुनिश्चित करता है। पोटेशियम के बिना, हमारे सबसे ज़रूरी कार्य धीमे या पूरी तरह बंद हो जाएंगे!

Sobs Meaning In Malayalam, Electrical Engineering In Biology And Medicine, Realtor Checklist For Buyer, Letter Patterns Examples, Birla Institute Of Technology, Mesra Cut Off, Are Makita Chainsaws Good, Culebra, Puerto Rico Airbnb,


Comments

nashpati ke fayde — No Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *